SIRE MANDIR​

रावल रतन सिंह द्वारा, महर्षि जाबली के सम्मान में, यह मंदिर कलशचल पहाड़ी पर 646 मीटर ऊँचाई पर बनवाया गया था। एक किंवदंती के अनुसार इस मंदिर में एक बार पांडवों ने शरण ली थी। मंदिर का मार्ग जालौर शहर के बीच से गुजरता है तथा मंदिर तक जाने के लिए 3 कि.मी. पैदल चलना पड़ता है।

Comments

mood_bad
  • No comments yet.
  • Add a comment